अच्छा डॉक्टर कैसे बने? How to Become a Good Doctor

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते है और आप नहीं जानते कि डॉक्टर कैसे बने और डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए। तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर आए है। आज मैं आपको बताऊंगा की अच्छा डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिये। और डॉक्टर बनने के लिए क्या जरूरी है।

Doctor kaise bane puri jankari hindi me

दोस्तों ऐसा कहा जाता है कि डॉक्टर दुनिया का दूसरा भगवान होता है। और डॉक्टरों का काम भी भगवान वाला होता है। आपने देखा होगा कि लोगो की उम्मीद या तो भगवान से लगी होती है या फिर डॉक्टर से। तो दोस्तों डॉक्टर एक बहुत ही संयम का काम और प्रोफेसन है।

डॉक्टर बनने के लिए क्या जरूरी है

दोस्तों डॉक्टर बनने के लिए कोई खास क्वालिफिकेशन की जरूरत नहीं होती है। ना ही ये जरूरी है जीनियस लोग ही डॉक्टर बन सकते है। दोस्तो हम से कोई भी डॉक्टर बन सकता है।

डॉक्टर बनने के लिए जरूरी होता है कि आप 12वीं के बाद फिजिक्स , कैमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट्स में अपनी पढ़ाई शुरू करें। और अच्छी मेहनत से कम से कम 50% अंक 12 वीं में लेके आये।

Medical Entrance Exam की तैयारी करें

वैसे तो अधिकतर लोग 12वीं करने के बाद ये तैयारी करते है। लेकिन मेरा सुझाव देखा जाए तो आप 11वीं और 12वीं के साथ साथ ही ये तैयारी शुरू कर दे तो एंट्रेन्स एग्जाम पास करने में कोई परेशानी नहीं होगी।

मेडिकल इंटर्न एग्जाम के लिए आपको 12वीं के बाद समय नही मिल पाता है। तो आप 11वीं और 12वीं साथ साथ तैयारी करें। क्योंकि मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम में NCERT और 11वीं और 12वीं के अनुसार ही प्रश्न पूछे जाते है।

मेडिकल एंट्रेस एग्जाम के लिए अप्लाई करे (Apply for Medical Entrance Exam)

अगर आपने Medical Entrance Exam की तैयारी कर ली है तो आप इसके लिए Apply कर सकते है। इस Exam के लिए Apply करने के लिए आपको 12वी क्लास में सभी सब्जेक्ट में 50 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ उतीर्ण होना जरुरी है।

उसी तरह Medical Entrance Exam में भी आपको अच्छे अंकों के साथ उतीर्ण होना है ताकि आपको आगे डॉक्टर की पढाई के लिए एक Best colleges मिले।

जरुरी बात :- मेडिकल एंट्रेस एग्जाम के लिए अप्लाई करने के लिए की अधिकतम उम्र 25 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति वर्ग से संबंधित अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्र सीमा में पांच साल की छूट देने का प्रावधान है।

भारत में AIIMS, AIPMT, MH-CET, DPMT, PMET, UPMT, NEET, AU AIMEE, JIPMER आदि फेमस एंट्रेस एग्जाम लिए जाते है। अगर आप इस परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ पास होते है।


तो आपको एक अच्छे गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है। जिसमे आप को डॉक्टर की पढाई के लिए ज्यादा पैसा भी नहीं लगेगा मतलब की कम पैसो में आप डॉक्टर की पढाई पूरी कर सकते है।

कॉलेज और डॉक्टरी पढाई एवं आगे की प्रक्रिया (College and Medical study and further processing)
जब आप Medical Entrance Exam अच्छे अंकों से साथ पास होते है।

तब उसके बाद काउंसलिंग की जाती है और अंकों के अनुसार आपको Medical college दिया जाता है। उस कॉलेज में आप को अपने इंटरेस्ट और योग्यता के अनुसार Medical Graduation Course करने होते है, जैसे.. MBBS, BAMS, BHMS, BDS, BMLT. B.PARM, BSC Nursing आदि बहुत से कोर्सेस है।

मेडिकल ग्रेजुएशन कोर्स की अवधि 3 साल से 4.5 साल की होती है। जैसे की अगर आप MBBS करना चाहते है तो आपको 4.5 साल तक पढ़ाई करनी होगी। उसके बाद आपको कम से कम 1 साल की इंटर्नशिप करना होता है।

मतलब की MBBS डॉक्टर बनने के लिए आपको पुरे 5.5 साल लगते है। 5.5 साल के बाद आपको Medical Council of India द्वारा MBBS की Degree दी जाती है। उसके बाद आप किसी भी अच्छे Hospital में Doctor के रूप में शामिल हो सकते है।

यह भी देखें👇
■ B.sc Nursing से करियर कैसे बनाये ? क्या है जॉब की सम्भावनाये

सारांश
बाकी Medical Graduation Courses की भी मिलती जुलती ही प्रोसेस होती है। Medical Graduation Course पूरी पढाई करने के बाद इंटर्नशिप करना होता है। उसके बाद आपको डिग्री दी जाती है। उसके बाद अपने अनुसार अपने Carrier को मोड़ दे सकते है।

इसके अलावा आप इसमें मेडिकल पोस्ट ग्रजुशन कोर्स कर सकते है। जैसे.. MD, MS आदि कई तरह के Post graduation course कर सकते है। पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेस की अवधि 2 – 3 साल की होती है। डॉक्टरी में एक स्पेशालिस्ट बनने के लिए Post graduation course करना बहुत जरुरी होता है।

उम्मीद है आपको ये जानकारी हेल्पफुल रही होगी। इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments